हमारे बारे में

कहा जाता है मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है, लेकिन पिछले कुछ सालों में हमने देखा है कि मीडिया कॉरपोरेट घरानों द्वारा चलाए जा रहे या पारिवारिक विरासत बन गयी है। किसी भी लोकतांत्रिक देश की जनता मीडिया से इतनी उम्मीद तो करती ही है पर भारत जैसे विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र में मीडिया के वर्तमान माहौल में संपादकों को ये आजादी बमुश्किल मिलती है. वक्त के साथ-साथ पत्रकारिता का स्तर नीचे जा रहा है, स्थितियां और भी बद से बदतर होती जा रही हैं.

बेबाक़ डॉट इन के पहले पन्ने पर सभी प्रमुख समाचारों को जगह दी जाती है. और इसके अलावा विश्लेषण, जनरुचि की ख़बरों और फ़ीचरों का प्रकाशन किया जाता है. हमारी वेबसाइट के अन्य इंडेक्स हैं- कारोबार, शिक्षा, मनोरंजन, लाइफ़ स्टाइल, हेल्थ, स्पोर्ट्स, प्रौद्योगिकी, ज्योतिष, धर्म, प्रेरणदायक कहानियाँ इत्यादि।

हिंदी पत्रकारिता जिंदा रहे, इसमें आपकी एक छोटी डोनेशन मदद कर सकती है बेबाक़डॉटइन एक इंडिपेंडेंट मीडिया प्लेटफार्म है. हम इमानदारी की पत्रकारिता में विश्वास रखते हैं. हमारा युवा पत्रकारों को जोड़ना तथा उन्हें राष्ट्रीय मंच देना है जो मेनस्ट्रीम मीडिया में जगह नहीं बना पाते. यहाँ  आपको बता दें कि हमारे काम पर किसी भी कॉर्पोरेट समूह, राजनैतिक पार्टी, विचारधारा अथवा व्यक्ति का कोई दबाव नहीं है. लेकिन इस कोशिश और इस आजादी को जिंदा रख पाना आसान नहीं है. आम जन की आवाज़ को लोगों तक पहुंचाने के लिए अगर आप आर्थिक मदद करेंगे तो हमें स्वतंत्रता से काम करने में सहूलियत होगी.

प्रश्न: मैं बेबाक़ के साथ काम करना चाहता हूँ, मुझे क्या करना होगा?

उत्तर – यदि आप अपने विचार प्रकट करने में सक्षम हैं और लोगों तक अपनी बात ले जाना चाहते हैं तो बेबाक़ आपके लिए बेहद ही खुबशूरत मंच है। आप हमसे इस ईमेल के माध्यम से जुड़ सकते हैं: [email protected]

प्रश्न: इस वेबसाइट पर ऐसी चीज़ें मौजूद है, जिस वज़ह से किसी व्यक्ति विसेस या कम्यूनिटी को ऐतराज़ हो सकता है तो क्या उसे यहाँ से हटाया जा सकता है?

उत्तर – हमारी कोशिश होती है कि हम सिर्फ़ सच और विश्वसनीय सामग्री लोगों के सामने लाए। लेकिन फिर भी आपको किसी ऐसे सामग्री जो बेबाक़ डॉट इन (Bebak.in) पर अच्छी नहीं लगी उसे तुरंत ईमेल के ज़रिए हमें बताए। हमारा पता है [email protected]