तो इस वजह से महाबली बाली बने श्रीकृष्ण के मौत की वजह

How Shree Krishna Died after Mahabharata
How Shree Krishna Died after Mahabharata

How Lord Krishna Died in Hindi: यदि आपने रामायण देखी होगी तो आपको किसकिन्धा नरेश बाली के बारे में जरुर पता होगा | जी हाँ..बाली..जिसकी शक्तियों के आगे पूरा ब्रह्माण्ड नतमस्तक था..वो बाली जिसने कभी लंका नरेश रावण को अपने कांख में दबा पूरा विश्व परिक्रमण किया था | महाबली बाली को एक शक्ति वरदान में मिली थी कि कोई भी योद्धा यदि आपसे युद्ध करे तो उसकी आधी शक्तियां आपके पास चली आयेगी |

How Lord Krishna Died in Hindi:

अपनी शक्तियों का गलत फायदा उठा बाली अपने अनुज को राज्य से बाहर खदेड़ देता है | मदद की गुहार लिए सुग्रीव जंगलो में हनुमान जी से मिलते हैं | वहीं इस बीच माता सीता की खोज में लगे प्रभु राम जंगल में एक राक्षस कदम्ब को मार उन्हें श्राप से मुक्ति दिलाते हैं | ऐसे में कदम्ब प्रभु राम का मार्गदर्शन करते हुए उन्हें किसकिन्धा जा सुग्रीव की मदद करने को कहते हैं | ऐसे में प्रभु राम जब किसकिन्धा पहुँचते हैं तो सुग्रीव उन्हें अपनी व्यथा सुना उनसे मदद करने की गुहार लगाते हैं एवं बदले में अपनी समस्त वानर सेना को माता सीता की खोज में लगा देने का भी वादा करते हैं |

इसे भी पढ़े: इन 6 Fengshui items को घर में रखने से होती है बरकत

प्रभु राम तब सुग्रीव को उनका खोया राजपाट लौटने हेतु बाली का वध करने का निश्चय कर लेते हैं |परन्तु प्रभु राम भी महाबली बाली की शक्तियों से भलीभांति परिचित थे और यही वजह थी कि वे बाली को छिप कर प्रहार करते हैं |प्रभु राम के द्वारा छिप कर किये गए इस वार के फलस्वरूप ही महाबली बाली का अंत होता है | इस बात से बाली अति क्रोधित होते हैं एवं प्रभु राम को छिप कर बिना चुनौती किये वार कर एक क्षत्रीय की मर्यादा भंग करने का आरोप लगाते हैं |

अपनी गलती मान प्रभु राम बाली को ये वरदान देते हैं कि द्वापर युग में जब मैं कृष्ण के रूप में जन्म लूँगा तब मेरी मृत्यु तुम्हारे ही हाथों होगी |बाद में बाली द्वापर युग में जारा के रूप में जन्म लेते हैं एवं एक बार शिकार के दौरान प्रभु कृष्ण की बांसुरी की आवाज़ से भ्रमित हो कोई शिकार समझ उनपर बाण चला कृष्ण जी के प्राण हर लेते हैं और इस तरह प्रभु राम की प्रतिज्ञा का मान रखा जाता है |

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) :   इस लेख में प्रकट कि गयी जानकारी लेखक द्वारा गहन अध्यन एवं रिसर्च के पश्चात दी गयी है. रीडर्स ध्यान दे कि कुछ तथ्य जुटाने हेतु महाग्रंथो के विभिन्न अध्यायो से मदद ली गयी है. ऐसे में रीडर्स से अनुरोध है कि वे लेख पढ़ते वक़्त किसी भी तरह से विचलित न हो. हमारा उद्देश्य किसी भी तरह से धार्मिक आस्था को आहत करना नहीं है.

अपने धरम से जुड़े ऐसे ही मजेदार जानकारियों से जुड़े रहने के लिए हमारे धरम एवं संस्कृति पेज पर बने रहे|

Tag: How Lord Krishna Died in Hindi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here