गैर सरकारी संगठन ग्रीनपीस के द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबित धातुओं की मात्रा मौजूद है| हाल ही में अरविन्द केजरीवाल की सरकार ने ओड इवन फार्मूला को कुछ दिनों के लिए लागु किया था हालाँकि इसको लेकर समीक्षा किया जाना अभी बाकि है|

ग्रीनपीस इंडिया द्वारा जारी किये गए रिपोर्ट एक झलक में :

  • सैंपल कई स्कूलों में लिए गए थे|
  • दिल्ली में PM 2.5 कणों में खतरनाक धातु हैं|
  • यह सर्वे 2015 साल के अक्टूबर – नवम्बर महीने में किया गया था|
  • इस दौरान इन स्कूलों में 24 घंटे वायु की गुणवत्ता की निगरानी करके पीएम 2.5 के नमूनों को एकत्रित किया गया |
  • खतरनाक धातुओं में सबसे ज्यादा निकेल, आर्सेनिक, कैडियम है |
  • PM 2.5 में पाए गए भारी धातु जैसे सीसा और मैंगनीज न्योरटैक्सिक हैं, जो ज्यादातर बच्चों के ज्ञान संबंधी विकास को प्रभावित करते हैं |

इसे भी पढ़ें : जंक फुड खाने से हर साल जा रही लाखों लोगों की जान

गौरतलब है की कई सारे सरकारी और गैर सरकारी संगठनों ने ये माना है की दिल्ली का प्रदूषण स्तर WHO स्टैण्डर्ड से कई गुणा ज्यादा है |

Delhi के वर्तमान प्रदूषण की स्थिति जानने के लिए Delhi Pollution Control Committee के ऑफिसियल वेबसाइट के लिंक निचे दिए गए हैं : www.dpccairdata.com/dpccairdata/display/index.php

Image courtesy : Huffington Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here